171 Views

गाजियाबाद/ गाजियाबाद के क्राईम ब्रॉन्च पुलिस कमिश्नरेट गाजियाबाद के द्वाराएनसीआर क्षेत्र में असली भारतीय मुद्रा के बदले तीन गुना भारतीय जाली मुद्रा देने के नाम पर झाँसा देकर व्यक्तियों को नकली रूपयो की गड्डियॉ देकर उनके असली रूपये लेकर फरार हो जाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए04 अभियुक्तों कोथानाकोतवाली शहरक्षेत्र से गिरफ्तार किया गया, जिनके कब्जे से 500-500 के 400 नकली नोटबरामद हुए।

पूछताछ पर अभियुक्त वसीम उर्फ राजा ने बताया कि उसका एक संगठित गिरोह है जो असली भारतीय मुद्रा के बदले उसका तीन गुना नकली भारतीय मुद्रा देने के नाम पर लोगो को ठगते है मेरे साथी अनिल यादव, जगजीवन उर्फ जग्गु, शब्रेआलम उर्फ समीर, मौ0 अंसार व जितेन्द्र मिलकर योजना बनाकर लोगो को अपनी बातो मे फँसाते है,फेक करेन्सी के बारे मे चारो ने बताया कि यह फेक करेन्सी हमारा साथी अनिल यादव कही से लाता है। हम सभी लोगो ने अपने फर्जी आधार कार्ड बनवा रखे है जो पार्टी को दिखाने के काम आता है हम लोग पार्टी को बातों मे फँसाकर उसके पैसो के बदले तीन गुना जाली भारतीय मुद्रा जो देखने मे असली नोट की तरह होते है देने का लालच देते है जब वह हमारी बातों मे फँस जाता है और नोट चेक कराने के लिए कहता है तो हम लोग कुछ असली नोटो को कैस्टोफैन टेबलेट के पानी मे भिगाकर सुखा देते है जिसको फेक करेन्सी बताकर पार्टी को देते है और 01 दूसरा असली नोट और उस बनाये हुए नोट पर एक साथ पानी डालते है तो बनाया हुआ नोट गुलाबी रंग छोडने लगता है और वह नोट बाजार मे भी चल जाता है इससे पार्टी को विश्वास हो जाता है कि यह नोट फर्जी है और बाजार मे चल जायेगा, हमारी बनाई योजना के अनुसार सामने वाली पार्टी फँस जाती है और लालच मे आकर हमसे सौदा कर लेती है और जब अपने असली पैसे के बदले हमसे फर्जी तीन गुने पैसे लेने आती है तो हम लोग नकली नोटो की गड्डियाँ बनाकर जिसमे ऊपर व नीचे एक-एक नोट असली लगा लेते है को सामने वाली पार्टी को दूर से दिखाते है और जब उसे विश्वास हो जाता है और वह पार्टी अपने असली पैसे हमको देती है तो योजनानुसार हमारे दो-तीन आदमी पुलिस पुलिस कहकर दौडते आते है तो हम असली पैसा लेकर भाग जाते है और सामने वाली पार्टी भी पुलिस के डर के वजह से भाग जाती है कियोंकि हम पहले से ही उस पार्टी को अपना फर्जी नाम पता नोट कराते है और नम्बर बदल लेते है तो वो हमे ढूँढ नही पाता है और ना ही हम पकडे जाते है।

दिनाँक-25/07/23 को भी हमने एक हरियाणा की पार्टी से धोखाधडी का प्लान बनाया था जिसमे वह काफी पैसा लेकर नोएडा सैक्टर 112 मे तय की हुई जगह पर आया था। हमारा साथी अनिल यादव व जगजीवन उर्फ जग्गु योजना के अनुसार पार्टी से पैसा लेने गये परन्तु तभी वहाँ पर असली पुलिस आ गयी और पुलिस ने हमारे एक साथी जगजीवन उर्फ जग्गु को असली रूपयो के बैंग के साथ पकड लिया, हम लोग व हरियाणा वाली पार्टी मौके से भाग गये थे और हमने अपने सिम निकाल कर फेंक दिये थे। आज भी हम लोग किसी पार्टी की तलाश में यही काम करने आये थे कि पकडे गये। हमने गाजियाबाद, नोएडा व दिल्ली एन.सी.आर. मे कई घटनाऐं कर रखी है। इस काम मे जितना भी पैसा मिलता है हम सभी लोग आपस मे बाँट लेते है। जिससे हम अपने खर्चे व शौक पूरा करते है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *