132 Views

रिपोर्ट- आरिफ कस्सार

पिलखुवा (अहम सत्ता) मोनाड विश्वविद्यालय में सोमवार को प्रसिद्ध फार्मा कंपनी एसएल ने कैंपस इंटरव्यू में बीफार्मा व डीफार्मा के विद्यार्थियों का चयन किया।मोनाड विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग के छात्रों ने कैंपस इंटरव्यू में शानदार प्रदर्शन किया।इनका चयन एसएल फार्मा कंपनी से आये डॉ कुमार वैभव एवं एचआर मिथलेश द्वारा आकर्षक पैकेज पर किया गया। विद्यार्थियों का चयन तीन चरणों में हुआ। कंपनी द्वारा विश्वविद्यालय के बीफार्मा के फईम, प्रिंस कंसल, दिव्या सिरोही व डीफार्मा की रानी, अकरम, मोहम्मद अफसार अली, नीरज पटेल एवं वसीम अली का चयन किया गया।खुशी जाहिर करते हुए विद्यार्थियों ने कहा ‘चयनित होने पर हमें जीवन की पहली सफलता मिल गई है और आगे भी हम इसी दिशा में नए कीर्तिमान कायम करेंगे।छात्रों के चयन में ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट कॉर्डिनेटर समेत कई अध्यापकों का बड़ा योगदान रहा, जिन्होनें विद्यार्थियों का उचित मार्गदर्शन किया। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ मोहम्मद जावेद ने विद्यार्थियों के चयन पर खुशी व्यक्त की और साथ ही इसके पीछे उनके टीचर्स की कड़ी मेहनत को श्रेय दिया। उन्होंने बताया कि कई गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए दवाओं पर शोध हो रहे हैं। इसलिए फार्मेसी के विद्यार्थियों के पास भविष्य में कई अवसर आएंगे और देश विदेश में रोजगार की संभावनाएं लगातार बढ़ेंगी।वही फार्मेसी विभाग की संकायाध्यक्ष डॉ गरिमा गुप्ता ने बताया कि इसमें शामिल होकर स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते हैं। कंपनी में चयनित होने वालों को प्रशिक्षण के दौरान विशेषज्ञों के साथ काम करने का मौका मिलेगा। उन्होंने आगे कहा कि मोनाड विश्वविद्यालय में प्लेसमेंट प्रक्रिया बहुत ही सुविधाजनक है।हर साल सैकड़ों कंपनियां भर्ती के लिए आती हैं। इस प्रक्रिया का पहला चरण छात्रों द्वारा प्लेसमेंट समिति को अपना बायोडाटा प्रस्तुत करना है। ताकि कंपनी भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के लिए उपलब्ध प्रतिभाओं की अंतिम सूची तैयार कर सके।इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव कर्नल डीपी सिंह ने चयनित छात्र एवं छात्राओं को शुभकामनाएं दीं और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।इस कार्यक्रम में फार्मेसी विभाग के शिक्षक डॉ. अरविंद, विनित,अंकित चौधरी, अनिल का विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *