205 Views

रिपोर्ट- चौधरी अफ़सर (संपादक)

गाजियाबाद के साहिबाबाद थाना क्षेत्र के मोहन नगर मेट्रो स्टेशन पर रविवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब सीआईएसएफ के सुरक्षाकर्मियों ने चेकिंग के दौरान एक लड़के को चार जिंदा कारतूस के साथ पकड़ लिया जिसके बाद सीआईएसएफ के जवानों ने लड़के को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ की जानकारी में उसने बताया कि उसका एक दोस्त उसे बैग देकर फरार हो गया था। लड़के को सीआईएसएफ के जवानों ने साहिबाबाद थाने की पुलिस को सुपुर्द कार मुकदमा दर्ज कराया है।

गाजियाबाद के साहिबाबाद इलाके के मोहन नगर मेट्रो स्टेशन पर चेकिंग के दौरान सीआईएसएफ के जवानों ने चेकिंग के दौरान एक लड़के को गिरफ्तार किया है। चेकिंग के दौरान सीआईएसएफ के जवानों को लड़के के बैठते चार जिंदा कारतूस मिले थे। कारतूस मिलते ही सीआईएसएफ के जवानों ने लड़के को हिरासत में लिया और उससे पूछताछ शुरू की तो उसने बताया उसके साथ उसका एक दोस्त था जो उसे बैग देखकर चला गया था और वह उसी दौरान मेट्रो में सफर करने के लिए उसी बेग को लेकर पहुंच गया था।

स्टेशन पर लगी एक्स-रे की स्कैनिंग मशीन में नजर आए कारतूस

बैग में कारतूस का पता है सीआईएसएफ के जवान को उस वक्त लगा जब मेट्रो स्टेशन मोहन नगर पर लगी एक्स-रे स्कैनिंग मशीन पर सीआईएसएफ का जवान ड्यूटी कर रहा था उसी दोरान सीआईएसएफ के जवान ने देखा कि बैग के अंदर स्कैनिंग मशीन में कारतूस नजर आ रहे हैं । जिसके बाद सीआईएसएफ के जवानों ने बेग को अपने कब्जे में ले लिया और आरोपी लड़के को भी पकड़ लिया जब उससे पूछताछ की गई तो उसने अपनी पहचान मेरठ के ग्राम सोहरका में रहने वाले गौतम सिंह के रूप में बताई, पूछताछ मे उसने बताया उसके साथ उसका एक दोस्त भी साथ में था और दोनों एक साथ मेट्रो स्टेशन पहुंचे थे लेकिन मेट्रो प्लेटफार्म पर पहुंचने से पहले ही गौतम का दोस्त उसे बैग देकर चला गया जिसके बाद वह आगे बढ़ गया और चेकिंग में पकड़ा गया।

सीआईएसएफ ने आरोपी को पुलिस के किया हवाले 

पकड़े जाने के बाद प्रारंभिक पूछताछ के बाद सीआईएसएफ के जवान ने पकड़े गए गोतम को साहिबाबाद थाने कि पुलिस को सुपुर्द कर दिया है और उसके खिलाफ एक शिकायत भी दर्ज कराई है जिस पर साहिबाबाद पुलिस भी कार्यवाही कर रही है और आरोपी से पूछताछ कर रही है कि आखिर उसका कारतूस लाने का क्या मकसद था और उसका दोस्त क्यों वहां से गायब हो गया ।

कहीं किसी बड़ी साजिश की आहट तो नहीं 

कारतूस के साथ पकड़े गए लड़के और फरार लड़के की धरपकड़ के लिए पुलिस अपनी टीम लगा चुकी है, लेकिन जिसे भी इस बात का पता चल रहा है वह यही अंदेशा लगा रहा है कहीं मेट्रो परिसर में किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में तो नहीं थे दोनों दोस्त जब एक साथ थे तो एक दोस्त क्यों फ़रार हो गया जबकि उसका दूसरा पकड़ा गया है और जिसने गौतम को कारतूस वाला बैग दिया था आखिर वो लड़का कहां गया। गोतम के फ़रार दोस्त की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। जिसके बाद आशंका है कहीं यह किसी बड़ी साजिश की आहट तो नहीं थी जिसे सीआईएसएफ के जवानों ने फेल कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *