31 Views

रिपोर्ट- चौधरी अफसर
गाजियाबाद- (अहमसत्ता) डॉ कुंवर सौलत पाशा ईदगाह कमेटी अध्यक्ष डासना व जिला अध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा भाजपा गाजियाबाद ने अहमसत्ता अखबार से बातचीत करते हुए बताया की रमजान का यह पाक महीना सबसे अव्वल महीना होता है जिसमें एक नेकी करने के बदले 70 नेकिया मिलती है। डॉ कुंवर सौलत पाशा ने कहा है कि रमजान का महीना नेकियों का महीना अर्थात नेकियों का मौसम कहा जाता है इस महीने में मुसलमान भाई बहन अल्लाह ताला को खुश करने के लिए उसकी इबादत में लगे रहते हैं और अपना गुनाह कबूल फरमाने के लिए दुआ करते हैं अल्लाह ताला भी अपने बंदों की दुआ इस महीने कबूल करके उनके सारे गुनाह माफ कर देते हैं रमजान के महीने को गुनाहों से मुक्ति का भी महीना कहा जाता है इस पूरे महीने मुस्लिम भाई बहन रोजे रखकर नमाज तराहवी पढ़कर और कुरान की तिलावत कर के अल्लाह से अपने गुनाह माफ करवाते हैं डॉ कुंवर सौलत पाशा ने कहा है कि रमजान के इस पाक महीने में सबको सदका, जकात और फितरा देना भी बहुत जरूरी है क्योंकि इस महीने में एक के बदले 70 नेकी मिलती है। डॉ कुंवर सौलत पाशा ने कहा कि ये पाक महीना चल रहा है। इस महीने में सभी एक दूसरे के गीले शिकवे भूलकर खुशी खुशी रोजे रखकर ईद की तैयारियों में जुट जाए। क्योंकि इस्लाम धर्म हमे आपस मे प्रेम और एकता से रहने की इजाजत देता है। न कि एक दूसरे से बेर रखने की। डॉ कुंवर सौलत पाशा ने बताया कि इस पाक महीने को पूरे तीस दिन अल्लाह की पनाह में लगा देना ही एक सच्चे मुसलमान की निशानी है। वैसे तो हर मुसलमान पर पूरे साल ही नमाज फर्ज है। इसलिए हमें पूरे साल ही पांचों वक्त की नमाज पढ़नी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *